व्यापारी धर्म व जाती से मुक्त है


व्यापारी धर्म व जाती से मुक्त है : बी.सी.भरतिया
सामाजिक धाराओं से विपरीत व्यापारी किसी धर्म या जाती मे मतभेद न रखते हुये व्यापार धर्म निभाता है और सभी की सेवा में तत्पर्य रहता है, ऐसा कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया ने कहा| वे हालार मेमन जमात नागपुर के सालाना स्थापना दिवस के मौके पर उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे| 
बी. सी. भरतिया ने कहा की देश में व्यापार व अर्थव्यवस्था में तेजी से बदलाव आ रहा है| सामाजिक बंधनो से ऊपर उठकर व्यापारिक व आर्थिक चुनौतियों का समाना करने के लिए जो भी जरूरते हो उन जरूरतो के हिसाब से अपने आपको तंत्रज्ञान व आधुनिकरण में बदलाव लाना होगा| अपनी संस्कृति व परंपरा को संभालकर रखते हुये आधुनिकता की ओर बढना होगा|
इससे पहले हालार मेमन जमात नागपुर के अध्यक्ष फारूकभाई अकबानी ने सभी अतिथीयों का स्वागत किया और कहा की हमारे शरीर के सभी अंगों की देखभाल होती रहनी चाहिए इसी श्रृखंला में हालार मेमन जमात नागपुर के चिकित्सा जांच शिबिर का आयोजन किया है| संस्था के सदस्यों की आंख, दांत, बल्ड पे्रशर आदि चीजों की जांच के लिए इस शिबिर में वॉक हार्ट हॉस्पिटल के डॉक्टरों के साथ किया गया|
टीम कैट नागपुर के अध्यक्ष किशोर धाराशिवकर ने कहा की जीएसटी एक आधुनिक करप्रणाली है| इसके ज्ञान के लिए हरिहर मंदिर के सामने शंकरलाल जालान फाउडेशन द्वारा जीएसटी की पाठशाला का लाभ सभी ने लेना चाहिए|इस मौके पर ज्ञानेश्‍वर रक्षक का सत्कार किया गया| प्रभाकर देशमुख ने भी विचार रखे|
इस कार्यक्रम में प्रमुखता से उपस्थित थे आरीफ नागानी, फिरोज पारेख, साजीद आकबानी, अकबरभाई आकबानी, आसीफ आकबानी, जिकर पुंजानी, हुसेन आकबानी, फारूक बनानी, साजीद मालानी, अशरफ पारखे, डॉ. हनीफ डासोनी, जुल्कर पटेल, रज्जाक पटेल, आरीफ फाजवानी, सलीम अजानी, राजकुमार गुप्ता आदि|