Ril ने बनाया कमाई का नया रिकॉर्ड, 17% की बढ़ोतरी के साथ 9516 करोड़ रु का प्रॉफिट


नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. (RIL) ने सितंबर, 2018 में समाप्त तिमाही के दौरान 17.35 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 9,516 करोड़ रुपए का प्रॉफिट दर्ज किया। यह RIL के इतिहास का सबसे ज्यादा प्रॉफिट रहा है। वहीं एक साल पहले समान अवधि के दौरान कंपनी को 8,109 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था।

ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन में गिरावट

हालांकि कंपनी के ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन (GRM) में कमी दर्ज की गई जो 9.50 डॉलर प्रति बैरल रह गया, जबकि बीते साल समान तिमाही के दौरान यह आंकड़ा 12 डॉलर रहा था।

वहीं रिजल्ट से पहले आरआईएल का स्टॉक 1.27 फीसदी की गिरावट के साथ 1,148 रुपए के स्तर पर बंद हुआ।

कुल इनकम 54 फीसदी बढ़ी

कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की मीटिंग के बाद सीएमडी मुकेश अंबानी ने रिजल्ट घोषित किया। उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के दौरान कंपनी की कुल इनकम 54.5 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 1,56,291 करोड़ रुपए तक पहुंच गई, जबकि बीते साल समान तिमाही के दौरान यह आंकड़ा 1,01,169 करोड़ रुपए रहा था। इस दौरान रिलांयस इंडस्ट्रीज की स्टैंडअलोन इनकम 37.1 फीसदी बढ़कर 1,03,086 करोड़ रुपए रही और प्रॉफिट 7.2 फीसदी बढ़कर 8859 करोड़ रुपए हो गई।

जियो को 681 करोड़ रुपए का प्रॉफिट

अंबानी ने अपनी टेलिकॉम कंपनी रिलायंस Jio के प्रदर्शन का उल्लेख करते हुए कहा कि दूसरी तिमाही में जियो ने 681 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट अर्जित किया है। इस तिमाही में पहली बार कंपनी ने 10 हजार करोड़ रुपए रेवेन्यू के स्तर को पार किया। 30 सितंबर को समाप्त तिमाही में कंपनी के ग्राहकों की संख्या बढ़कर 25 करोड़ के पार पहुंच गई।

अंबानी ने कहा कि जियो का प्रति ग्राहक औसत रेवेन्यू भी इस तिमाही में 131.70 रुपए पर पहुंच चुका है। इस तिमाही में उसके ग्राहकों ने 771 करोड़ जीबी डाटा का उपयोग किया है। उन्होंने कहा कि मार्च 2018 में रिलायंस इंडस्ट्रीज पर कुल मिलाकर 218763 करोड़ रुपए कर्ज था, जो सितंबर में बढ़कर 258701 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।