अप्रैल से क्या सस्ता, क्या महंगा? कुछ जेब पर पड़ेंगे भारी तो कुछ देंगे राहत


अप्रैल से आपकी रोजमर्रा की जिंदगी में बहुत कुछ बदलने जा रहा है. नया वित्त वर्ष २०१९-२० लागू होने के बाद कुछ चीजें आपकी जिंदगी आसान करेंगी और कुछ बदलाव आपकी जेब पर भारी पड़ेंगे. इसकी वजह है कि आज से कुछ नए नियम अमल में आ गए हैं. आइए जानते हैं कि नए वित्त वर्ष में आपके लिए क्या सस्ता और क्या महंगा हुआ है

ये चीजें हुईं सस्ती
१. घर खरीदना : GST काउंसिल की २४ फरवरी की बैठक में अंडर कंस्ट्रक्शन फ्लैट और सस्ते घरों पर GST रेट को घटाकर ५ फीसदी और १ फीसदी किया गया था. ये दरें अप्रेल से प्रभावी हो गई हैं. इससे पहले अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी या रेडी-टू-मूव फ्लैट (जहां बिक्री के समय कम्प्लीशन सर्टिफिकेट जारी नहीं किया जाता है) के भुगतान पर इनपुट टैक्स क्रेडिट के साथ १२ फीसदी GST लगता था. सस्ते मकानों पर GST की दर ८ फीसदी थी.
२. रेपो रेट में कटौती का तुरंत फायदा : अप्रेल से RBI द्वारा रेपो रेट में की गई कटौती का फायदा तुरंत मिलेगा. दिसंबर २०१८ में RBI ने घोषणा की थी कि वह अप्रैल २०१९-२० से पॉलिसी रेट कट में एक्सटर्नल बेंचमार्किंग का नियम लागू करेगा. इस नियम के तहत लोन्स में ‘फ्लोटिंग’ (परिवर्तनीय) ब्याज दरें रेपो रेट या गवर्मेंट सिक्योरिटी में निवेश पर यील्ड जैसे बाहरी मानकों से संबद्ध की जाएंगी. इसका फायदा यह होगा कि RBI द्वारा पॉलिसी रेट कम किए जाते ही कस्टमर्स के लिए लोन भी तुरंत सस्ते हो जाएंगे.
३. जीवन बीमा हुआ सस्ता: अप्रैल से जीवन बीमा खरीदना सस्ता होने जा रहा है. दरअसल, अप्रैल से जीवन बीमा कंपनियां मृत्यु दर के नए आंकड़ों का पालन करेंगी, जिनके तहत भारत में औसत जीवन काल बढ़ गया है. अभी तक बीमा कंपनियां २००६-०८ के डाटा का इस्तेमाल कर रहीं थी. लेकिन अब २०१२-१४ का डाटा इस्तेमाल किया जाएगा. इस नए बदलाव से सबसे ज्यादा फायदा २२ से ५० साल के लोगों को होगा.
४. रेलवे: PNR लिंकिंग का नया नियम कराएगा फायदा
नए वित्त वर्ष से इंडियन रेलवे संयुक्त पैसेंजर नेम रिकॉर्ड (PNR) जारी करेगा. इसके तहत अब रेल यात्री एक यात्रा के दौरान एक के बाद दूसरी ट्रेन में सफर करेंगे तो न्हें संयुक्त PNR मिलेगा. PNR एक यूनीक कोड होता है, जिससे ट्रेन और यात्री की जानकारी मिलती है.
नए नियम के आने से अगर यात्रियों की पहली ट्रेन लेट हो जाती है और इसके चलते उनकी अगली ट्रेन छूट जाती है तो वे बिना कोई पैसे दिए आगे की यात्रा रद्द कर सकेंगे.  रेलवे सिर्फ उसी ट्रेन के पैसे लेगी, जिससे आपने सफर किया है, दूसरी ट्रेन के पैसे आपको वापस मिल जाएंगे. अभी एक यात्रा के लिए २ ट्रेन बुक करने पर यात्रियों के नाम पर २ PNR नंबर जनरेट होते हैं. नए नियम लागू होने के बाद दोनों PNR को लिंक कर दिया जाएगा. इससे रिफंड मिलना भी आसान हो जाएगा.

अप्रैल से महंगी होने वाली चीजें :-
१. खाना बनाने से लेकर गाड़ी चलाना महंगा :
अप्रेल से कुकिंग गैस से खाना बनाने से लेकर गाड़ी चलाना महंगा हो जाएगा. सरकार ने डोमेस्टिक नेचुरल गैस की कीमतों में १० फीसदी का इजाफा कर दिया है. नई कीमतें अगले ६ महीने तक प्रभावी रहेंगी. नई डॉमेस्टिक गैस पॉलिसी २०१४ के मुताबिक नेचुरल गैस की कीमतें हर ६ माह पर तय की जाती हैं. सरकार द्वारा नेचुरल गैस की कीमतों में बढ़ोत्तरी से ऑटो ईंधन के रूप में इस्तेमाल होने वाले सीएनजी (CNG) और रसोई गैस के रूप में घरों में इस्तेमाल होने वाले PNG की कीमतों में बढ़ोतरी का असर आम आदमी पर हो सकता है. इससे ग्राहकों की जेब पर सीधा असर होगा.
२. कार-बाइक खरीदना महंगा : अप्रेल से Tata Motors की कारें खरीदना आपके लिए महंगा हो जाएगा क्योंकि कंपनी ने अपनी गाड़ियों की कीमत बढ़ाने का फैसला किया है. कंपनी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक कारों की कीमत में २५ हजार रुपये तक की बढ़ोतरी हो सकती है. टाटा से पहले टोयोटा भी कुछ गाड़ियों की  कीमत में अप्रैल से बढ़ोतरी का ऐलान कर चुकी है.
३. कोरोनरी स्टेंट की कीमत में इजाफा : दिल के मरीजों के लिए इस्तेमाल होने वाले कोरोनरी स्टेंट की कीमत २ हजार रुपये तक बढ़ गई है. फरवरी २०१७ को कोरोनरी स्टेंट की कीमत ८५ फीसदी तक कम हो गई थी. इसके करीब दो साल बाद कोरोनरी स्टेंट की कीमतों में १० फीसदी तक का उछाल देखने को मिला है. बता दें कि कोरोनरी स्टेंट की आकृति ट्यूब के समान होती है, जिसे हृदय रोग के इलाज के दौरान हृदय में रक्त प्रवाह करने वाली नलिकाओं में लगाया जाता है.